– विश्व हृदय दिवस पर हजारों लोगों ने ‘चलता रहे मेरा दिल’ वॉकेथॉन में लिया हिस्सा

ग्रेटर नोएडा। तेज रफ्तार जिंदगी और बदलती जीवन शैली से लोग कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। हृदय संबंधी बीमारी इन्हीं में से एक है। पहले यह बीमारी उम्रदराज लोगों को होती थी, लेकिन अब कम उम्र के लोग भी इसके शिकार हो रहे हैं। विश्व हृदय दिवस के मौके पर सिने स्टार, टीवी एंकर और फिटनेस आइकॉन मंदिरा बेदी समेत हजारों लोगों ने सड़कों पर वॉक कर मैसेज दिया कि इससे डरने की नहीं, लड़ने की जरूरत है। रविवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट के यथार्थ अस्पताल ने ‘चलता रहे मेरा दिल’ वॉकेथान का आयोजन किया। इसमें फिल्म स्टार मंदिरा बेदी के साथ शहर के एक हजार से अधिक महिलाआंे और पुरुषों ने हिस्सा लिया।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सड़कों पर वॉक कर रहीं महिला एवं पुरुषों ने हृदय संबंधी बीमारियों के प्रति जागरूकता का संदेश दिया। इस बीमारी से खौफजदा होने की जरूरत नहीं है। ‘चलता रहे मेरा दिल’ वॉकेथान की शुरुआत मंदिरा बेदी ने दिल के आकार के बैलून उड़ाकर की।

मंदिरा बेदी ने कहा कि वॉकिंग करना हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा है। मैं सबको कहती हूं कि वॉकिंग करना हमारे सेहत के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है। मैं सभी का धन्यवाद करना चाहती हूं कि आप लोग यहां आए हैं अपने स्वास्थ्य के लिए और लोगों को जागरूक करने के लिए। रविवार की यह खुशनुमा सुबह मेरे साथ चलिए और चलने को अपने जीवनचर्या का अंग बनाइये। वादा वादा कीजिए कि हम अपने स्वास्थ्य के लिए वॉक करेंगे।

मंदिरा बेदी ने ‘चलता रहे मेरा दिल’ वॉकेथॉन के बाद यथार्थ अस्पताल में सबसे आधुनिक कैथ लैब का उद्घाटन किया। उसके बाद आयोजित कार्यक्रम में डॉक्टर कपिल त्यागी, मन्नू त्यागी और अन्य डॉक्टरों ने लोगों को हृदय संबंधी बीमारी के प्रति जागरूक किया और उससे बचाव के उपाय बताए।