नोएडा। समाजवादी पार्टी नोएडा ग्रामीण की ओर से गुरुवार को सेक्टर-31 के निठारी गांव में किसानों के मसीहा पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की 119वीं जयंती मनाई गई। नोएडा ग्रामीण जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव और प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया। इस अवसर पर विचार गोष्ठी का भी आयोजन किया गया, जिसमें सपा नेताओं ने उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला।

सपा ग्रामीण जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव ने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने एक साधारण परिवार में जन्म लेने के बाद अपनी संघर्ष क्षमता और योग्यता के बलबूते देश के प्रधानमंत्री के पद को सुशोभित किया। उनका जन्म 23 दिसंबर 1902 को नूरपुर गांव (बाबूगढ़ छावनी के निकट) तहसील हापुड़, गाजियाबाद में हुआ था। चौधरी साहब ने छोटी सी उम्र में गांव, गरीब, किसान का शोषण देखा और उनके हृदय में शोषण के खिलाफ संघर्ष का जज्बा जाग उठा। उन्होंने किसानों की भलाई के लिए आजीवन संघर्ष किया, इसलिए उन्हें किसानों का मसीहा भी कहा जाता है।

सपा नेता राघवेंद्र दुबे ने कहा कि आगरा विश्वविद्यालय से वकालत की शिक्षा ग्रहण करने के बाद 1928 में गाजियाबाद में वकालत प्रारम्भ की। वह हमेशा न्यायपूर्ण मुकदमों को ही स्वीकार करते थे। गांधीजी के आह्वान पर सविनय अवज्ञा आंदोलन में भाग लिया और हिंडन नदी पर नमक बनाने का कार्य किया। उस मामले में उन्हें छह माह की सजा हुई। चौधरी साहब ने आजीवन किसानों की भलाई के लिए कार्य किया। लेकिन, वर्तमान भाजपा सरकार में किसान सड़कों पर कड़कड़ाती सर्दी में न्याय पाने के लिए एक वर्ष से अधिक समय तक आंदोलनरत रहे, फिर भी सरकार ने तानाशाही रवैया नहीं छोड़ा। अपनाए हुए है। उन्होंने कहा कि चौधरी साहब के बताए मार्ग पर चलकर ही समाजवाद की परिकल्पना को साकार किया जा सकता है।

इस अवसर पर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र सिंह अवाना, मजदूर सभा के अध्यक्ष अर्जुन प्रजापति, उपाध्यक्ष फूल सिंह यादव, मोहम्मद तस्लीम, मुकेश प्रधान, रामबीर यादव, मुमताज आलम, राजू टांक, प्यारेलाल यादव, मनोज प्रजापति, मोहसिन सैफी, अरुण यादव और मुन्नीलाल बघेल आदि मौजूद रहे।