नई दिल्ली। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं में कारगर है। यही कारण है नीम के पत्तों का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाईयों के रूप में किया जाता है। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल त्वचा, संक्रमण,घावों, जलन और कई अन्य बीमारियों में बहुत लाभकारी माना जाता है।

आयुर्वेद में नीम के पेड़ को औषधीय गुणों से भरपूर माना जाता है। नीम का पेड़ ना केवल वातावरण को स्वच्छ करने में मदद करता है बल्कि इसका हर हिस्सा किसी ना किसी बीमारी के इलाज के लिए कारगार होता है। नीम को संस्कृत में अरिष्टा कहा जाता है जिसका अर्थ है बिमारियों से राहत पाना। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं में कारगर है। यही कारण है नीम के पत्तों का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाईयों के रूप में किया जाता है। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल त्वचा, संक्रमण,घावों, जलन और कई अन्य बीमारियों में बहुत लाभकारी माना जाता है। आज के इस लेख में हम आपको नीम की पत्तियों के फायदे बताने जा रहे हैं-

नीम के पत्तों का स्वाद कड़वा होता है इसलिए लोग इसका सेवन नहीं कर पाते हैं। लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, रोजाना सुबह खाली पेट नीम के पत्तों को चबाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और खून भी साफ होता है। इससे कई तरह के स्वास्थ्य विकारों में लाभ होता है।

जलने पर भी नीम की पत्तियों का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। इसकी पत्तियों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो घाव को जल्दी भरने में मदद करते हैं। नीम की पत्तियों को पीसकर जले हुए हिस्से पर लगाने से जलन और दर्द से जल्द राहत मिलती है।

स्किन संबंधी रोगों में नीम रामबाण इलाज है। दाद, खाज, खुजली या फिर अन्य तरह के त्वचा रोगों को दूर करने में नीम की पत्तियां बहुत फायदेमंद हैं। इसके लिए आप प्रभावित हिस्से पर नीम का तेल लगाकर मालिश कर सकते हैं या नहाने के पानी में नीम की पत्तियों को मिलाकर नहाएँ।  

पथरी रोग में भी नीम की पत्तियों का इस्तेमाल प्रभावी है। यदि आपको गुर्दे में पथरी है तो नीम की पत्तियों को सुखा लें और फिर इसे भूनकर इसकी राख बना लें। रोजाना इसकी दो से तीन ग्राम मात्रा गुनगुने पानी के साथ लें। इससे पथरी गलने लगती है और ये पथरी को बाहर निकालने में मदद करता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए भी नीम काफी फायदेमंद है। इसमें ग्लाइकोसाइड्स और एंटी वायरल गुण मौजूद होते हैं जो ग्लूकोज लेवल नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। इसके लिए रोजाना नीम की पत्तियों का सेवन करें। अगर आप नीम की पत्तियां खा नहीं सकते तो इसकी पत्तियों का ताजा रस निकाल कर पिएं।

नीम के पत्तियों का इस्तेमाल बालों के लिए एक नेचुरल कंडीशनर का काम करता है। इसकी पत्तियों को पीसकर बालों में लगाने से बालों का कम होता है और डैंड्रफ की समस्या भी दूर होती है। इसके लिए नीम की पत्तियों को पीसकर बालों में लगाएं और एक घंटे बाद सिर धो लें।