ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा के विकसित औद्योगिक सेक्टरों में जल्द ही कुछ और प्लॉट मिलने की उम्मीद है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने परियोजना विभाग से मौके पर खाली भूखंडों का ब्योरा मांगा है। अगर ये खाली हैं तो स्कीम लाकर इन भूखंडों का आवंटन किया जाएगा।


ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण भूषण मंगलवार को रखरखाव कार्यों का जायजा लेने खुद ही सड़क पर उतरे। सीईओ सबसे पहले होंडा सीएल चौक के पास विकसित किए गए ग्रीन बेल्ट को देखा। यह जगह खाली पड़ी थी। सीईओ ने पूर्व में यहां का निरीक्षण करने के दौरान हरा-भरा बनाने के निर्देश दिए थे। उद्यान विभाग ने यहां पर घास व पौधे लगा दिए हैं, जिससे यह हर-भरे पार्क के रूप में विकसित हो गया है। इसके बाद सीईओ औद्योगिक सेक्टर ईकोटेक छह व सात के दौरे पर गए। दोनों का गहनता से निरीक्षण किया।

सीईओ ने खाली औद्योगिक प्लॉटों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने परियोजना विभाग को निर्देश दिए कि नियोजन व उद्योग सेल से खाली प्लॉटों का ब्योरा लेकर मौके पर मिलान करें। खाली प्लॉटों की सूची तैयार कर शीघ्र उपलब्ध कराएं। इससे खाली और आवंटित प्लॉटों की सटीक जानकारी मिल सकेगी। अगर प्लॉट खाली है तो स्कीम के जरिए उद्यमियों को आवंटित किए जा सकेंगे। इससे उद्यमियों को औद्योगिक निवेश के लिए जल्द ही और भूखंड मिलने की उम्मीद है। इसके बाद सीईओ ने सिरसा प्रवेश द्वार पर चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया। इसे हरा-भरा बनाने के निर्देश दिए। दौरे से समय महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा, प्रभारी डीजीएम सलिल यादव, वरिष्ठ प्रबंधक कपिलदेव सिंह व राजीव कुमार आदि मौजूद रहे।