– अमेठी विधानसभा सीट से सपा के संभावित प्रत्याशी ने दर्जनभर गांवों में किया जनसंपर्क

अमेठी। अमेठी विधानसभा क्षेत्र में हालांकि मौसम का तापमान सर्द है, लेकिन सियासी पारा उबाल पर दिख रहा है। इस क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के संभावित उम्मीदवार हीरा लाल यादव ने मंगलवार को समर्थकों के धौंये, कस्तूरीपुर, शरैया मोहन, पूरे पीताम्बर पांडे भीमी, बालीपुर आदि में जनसंपर्क किया। इस दौरान हीरा लाल यादव ने बीते वर्षों में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व वाले सरकार में किए गए जनहित और विकास कार्यों की जानकारी दी। जनसंपर्क के दौरान सपा नेता ने मौजूदा भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि मुद्दाविहीन भाजपा सिर्फ सांप्रदायिक धु्रवीकरण की नाकाम कोशिश में लगी है। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ग्रामीणों ने साफ छवि, निर्भीक, जुझारू, जिम्मेदार, ईमानदार प्रत्याशी के रूप में मुझे जिताकर समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने का वादा करते हुए लोगों ने भारी समर्थन देने का भरोसा व्यक्त किया।

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी के अमेठी में लोकप्रिय नेता और संभावित प्रत्याशी हीरा लाल यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ अमेठी विधानसभा क्षेत्र के दर्जनभर गांवों का दौरा कर जनसंपर्क किया। इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र सिंह अवाना भी मौजूद रहे। जनसंपर्क के दौरान सपा नेता हीरा लाल यादव मौजूदा भाजपा की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमलावर रहे। उन्होंने योगी सरकार का जुमलों की सरकार बताया और कहा कि मुख्यमंत्री को झूठ बोलने के अलावा कुछ नहीं आता है। यह शर्म की बात है कि प्रदेश का मुखिया राज्य के शिक्षित नौजवानों से झूठ बोलता है। सत्ता में आने से पहले 80 लाख युवाओं को रोजगार देने का भरोसा दिया था। अब सरकार चार लाख नौजवानों को रोजगार देने की बात कह रही है, लेकिन युवा सरकार से पूछ रहे हैं कि किसे नौकरी दी, उसकी जानकारी सार्वजनिक की जाए, लेकिन सरकार चुप है। उन्होंने कहा कि विज्ञापनों की बदौलत प्रदेश के विकास का दर्शाने वाली सरकार की असलियत हर कोई समझ गया है।

सपा नेता हीरा लाल यादव ने कहा कि सरकार को प्रदेश में माफिया और गुंडे इसलिए नहीं दिखाई दे रहे हैं, क्योंकि सभी भाजपा में शामिल हो गए हैं। उन्होंने कोरोना से प्रदेश में स्वास्थ्य कुप्रबंधन से भी ग्रामीणों को रूबरू कराया। उन्होंने कहा कि सरकार झूठ नहीं बोलती तो प्रदेश में हजारों लोगों की जान नहीं जाती। उन्होंने आरोप लगाया कि यह अव्यवस्था ही थी कि लोगों को गंगा में शव बहाने के अलावा रेती में दबाने पड़े। उन्होंने किसानों के साथ हो रहे अत्याचार, खाद, बीज, डीजल और बिजली की महंगाई जैसे मुद्दे भी उठाए।

हीरा लाल यादव ने ग्रामीणों को समाजवादी पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार के कामों से भी अवगत कराया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से पहले समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव की सरकार ने बच्चों की शिक्षा के बारे में गंभीरता से ध्यान दिया। यही कारण है कि देश में पहली बार प्रदेश के विद्यार्थियों को लैपटॉप बांटे गए। निर्बल और बेसहरा लोगों को समाजवादी पेंशन की सौगात दी। बिजलीघर, एक्सप्रेस वे, स्कूल, अस्पताल और मेडिकल कॉलेज अखिलेश यादव की देन है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सरकार ने इतने ज्यादा काम कर दिए कि उन कार्यों और परियोजनाओं उद्घाटन करने में मौजूदा सरकार का पांच साल बीत गया। आज ऐसी स्थिति है कि मौजूदा सरकार के पास अपने काम बताने के लिए कुछ भी नहीं है, इसलिए वह बेरोजगारी, महंगाई, भ्रष्टाचार जैसे बुनियादी समस्याओं से ध्यान भटकाने के लिए लुंगी, टोपी, हिंदू, मुसलमान और मंदिर मस्जिद जैसे निरर्थक मुद्दे उठाकर जनता को भ्रमित कर रही है।

इस मौके पर अवधेश बहादुर यादव, समरजीत सिंह, राहुल, राजेन्द्र सिंह, पिंटू सिंह, शिवकुमार सिंह, राजभान सिंह, संजय सिंह, स्वामी नारायण सिंह, सूर्य नारायण सिंह, आनंद सिंह, पिंटू सिंह प्रधान, मान सिंह, लालजी यादव प्रधान, राधेश्याम तिवारी, प्रदीप कुमार कोटेदार, कपिल पांडे, राजेश उर्फ खन्ना तिवारी और वरिष्ठ सपा नेता गुलफाम तोमर आदि मौजूद थे।