– मशहूर हिंदी फिल्म निर्माता एवं निर्देशक सुभाष घई ने दिया संबोधन

नोएडा। एमिटी विश्वविद्यालय की ओर से ‘उद्यमिता, नवाचार और नेतृत्व’ विषय पर आयोजित ऑनलाइन अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का सोमवार को समापन हो गया। समापन समारोह में प्रदेश के एमएसएमई राज्यमेंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा, मशहूर हिंदी फिल्म निर्माता एवं निर्देशक सुभाष घई ने छात्रों को प्रोत्साहित किया।

राज्यमंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान सरकार ने एमएसएमई क्षेत्र की मदद के लिए कई कदम उठाए हैं। केंद्र के सहयोग से विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। कई इकाइयां जो पहले बंद हो गई थीं, उन्हें फिर शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि एमएसएमई क्षेत्र देश के सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 30 प्रतिशत का योगदान देता है। लगभग 11 करोड़ लोगों को रोजगार प्रदान करता है।

मशहूर हिंदी फिल्म निर्माता एवं निर्देशक सुभाष घई ने कहा कहा कि हमेशा स्पष्ट से परे सोचें और कभी भी सीखना बंद न करें। क्योंकि कोई भी कहीं से भी सीख सकता है। सीखने का कोई अंत नहीं है। सफल होने के लिए, किसी को नेतृत्व कैशल विकसित करना चाहिए और उदाहरण के द्वारा नेतृत्व करना चाहिए। स्वयं बनें और दूसरों का अनुसरण न करें, अपना उदाहरण सेट करें, अपनी विशिष्ट पहचान बनाएं और दूसरों के लिए एक आदर्श बनें।

एमिटी विश्वविद्यालय हरियाणा के चांसलर डॉ. असीम चौहान ने कहा कि इस सम्मेलन का उद्देश्य विभिन्न क्षेत्रों से स्टार्टअप, उद्यमिता, शिक्षाविदों, निवेशकों, शोधकर्ताओं, विशेषज्ञों आदि को उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए एक साझा मंच पर लाना है। एमिटी के छात्रों के लिए बेहद गर्व की बात है कि वह इस कार्यक्रम के माध्यम से आप सब दिग्गजों से बहुत कुछ सीख पाए। सम्मेलन के समापन समारोह में विभिन्न श्रेणियों की प्रतियोगिताओं में विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए गए।