नोएडा। एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की कक्षा नौवीं की छात्रा हर्षिता प्रसाद ने स्पेस किड्ज इंडिया द्वारा नीति आयोग के सहयोग से आयोजित ‘यंग सांइटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता 2021-22’ में प्रथम स्थान हासिल किया है। विद्यालय समूह की चेयरपरसन डा. अमिता चौहान और प्रधानाचार्य रेनू सिंह ने हर्षिता को बधाई देते हुए उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

‘यंग सांइटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता 2021-22’ में 750 से अधिक छात्र शॉर्टलिस्ट किये गए। इस प्रतिस्पर्धा में हर्षिता ने चार एलिमिनेशन रांउड पार किये और 13 प्रतिष्ठत राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय हस्तियों के सम्मुख प्रस्तुति दी। हर्षिता प्रसाद ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कंप्यूटर का उपयोग करके गैर आक्रामक प्रक्रिया के माध्यम से किशोरों को एक स्वस्थ मनोवैज्ञानिक स्थिति बनाए रखने के लिए ‘फीनिक्स मांइड’ नामक ऐप बनाया है, जिसका उपयोग किशोरों की अवसाद की समस्या का समाधान होगा।

डा. अमिता चौहान ने कहा कि हम छात्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने, शोध और नवाचार करने की संस्कृति को पोषित करते हैं। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी की नई चुनौतीयों से निपटने और समस्याओं के समाधान के लिए युवाओं के सक्रिय उत्साह का मार्गदर्शन आवश्यक है, जिसका उपयोग राष्ट्र विकास में हो सके।

प्रधानाचार्य रेनू सिंह ने कहा कि हम सभी को हर्षिता प्रसाद पर गर्व है, जिसने विद्यालय और अपने अभिभावकों को नाम रोशन किया है। उन्होंने कहा कि ‘यंग सांइटिस्ट इंडिया प्रतियोगिता 2021-22 (8वां एडिशन)’ प्रतियोगिता में ग्रैंड फाइनलिस्ट में पूरे भारत से 19 प्रोजेक्ट का चयन किया गया, जिसमें चार प्रोजेक्ट एमिटी इंटरनेशनल स्कूल नोएडा की नौवीं की हर्षिता प्रसाद, कक्षा 12वीं के अक्षत शर्मा, कक्षा नौवीं के तन्मय गोयल और कक्षा 8वीं की स्तुति प्रिया के थे। इनका ग्रैंड फाइनलिस्ट के राष्ट्रीय स्तर पर चयन किया गया। इसमें नौवीं की हर्षिता प्रसाद ने प्रथम स्थान हासिल किया। सभी फाइनलिस्ट को सर्टिफिकेट और नकद इनाम प्रदान किया गया।